पठान की गरज; फाइटर का इंतजार: सिद्धार्थ आनंद ने खोले बॉक्स ऑफिस की रणनीति के राज

MSR

Pathan's thunder; Waiting for Fighter: Siddharth Anand reveals the secrets of box office strategy

पठान की गूंज अभी बाकी है: फाइटर की रिलीज से पहले सिद्धार्थ आनंद ने याद किया ब्लॉकबस्टर का चस्का

Pathan's thunder; Waiting for Fighter: Siddharth Anand reveals the secrets of box office strategy

25 जनवरी 2024 की तारीख बॉलीवुड कैलेंडर में अब दोहरी चमक लिए हुए है. एक तरफ जहां पिछले साल इसी दिन सिद्धार्थ आनंद की निर्देशित ‘पठान’ ने बॉक्स ऑफिस पर तूफान मचाया था, वहीं इस साल फिर से इसी तारीख को उनकी एक और मेगा-प्रोजेक्ट, ‘फाइटर’ रिलीज होने के लिए तैयार है. ‘फाइटर’ की रिलीज से पहले, सिद्धार्थ आनंद ने ‘पठान’ की ब्लॉकबस्टर यात्रा को याद करते हुए कुछ खास बातें साझा कीं, जो बताती हैं कि सिनेमा के पर्दे पर हिट उड़ाना कितना मुश्किल और साथ ही कितना जादुई होता है.

‘पठान’ की रिलीज के बारे में बात करते हुए, सिद्धार्थ ने बताया कि फिल्म के आने से पहले उन्हें कितनी घबराहट और चिंता थी. “कुछ हफ्ते पहले तक बायकॉट बॉलीवुड का जुनून सिर चढ़कर बोल रहा था.

हिंदी फिल्मों को नकारा जा रहा था. ऐसे माहौल में ‘पठान’ को रिलीज करना वाकई में बड़ा रिस्क था,” उन्होंने कहा. लेकिन जैसा कि अक्सर होता है, अच्छाई का ही बोलबाला होता है और ‘पठान’ ने बॉक्स ऑफिस रिकॉर्ड्स तोड़ते हुए न सिर्फ फिल्म निर्माताओं, बल्कि पूरे बॉलीवुड बिरादरी को राहत की सांस दी.

👉 रकुल प्रीत सिंह वेडिंग: रकुल प्रीत सिंह अपने बॉयफ्रेंड जैकी भगनानी से करेंगी शादी-…

फिल्म की रिलीज के दिन की याद करते हुए, सिद्धार्थ की आवाज में एक अलग ही जोश झलकता है. “25 जनवरी की सुबह 7 बजे उठा. रात को 3:30 बजे तक फिल्म की कास्ट और क्रू के साथ स्क्रीनिंग हो रही थी. जागते हुए शरीर सुन्न पड़ा हुआ था, न जाने किस डर से.

फिर दिनभर फिल्म की खबरें और दर्शकों की प्रतिक्रियाएं आती रहीं. और शाम तक तो जैसे पूरा देश ‘पठान’ के रंग में रंग चुका था,” उन्होंने कहा. सिद्धार्थ ने बताया कि कैसे फिल्म को समीक्षकों ने भी सराहा और “ब्लॉकबस्टर” का तमगा दे डाला.

‘पठान’ की सफलता के बाद सिद्धार्थ के हाथों में एक और बड़ी जिम्मेदारी आ गई है – ‘फाइटर.’ इस हवाई युद्ध पर आधारित फिल्म में ऋतिक रोशन और दीपिका पादुकोण एक बार फिर साथ नजर आएंगे. ‘पठान’ की तरह ही ‘फाइटर’ की रिलीज से पहले भी सिद्धार्थ के दिल में एक ही चिंता है – दर्शकों का प्यार और फिल्म का नतीजा.

“हर फिल्म से पहले यही घबराहट रहती है. दर्शकों को क्या पसंद आएगा, क्या नहीं आएगा? लेकिन साथ ही, यही घबराहट फिल्में बनाने का असली मजा भी है. ‘फाइटर’ मेरे दिल का करीब है, और मैं उम्मीद करता हूं कि दर्शक इसे उसी तरह अपनाएंगे जिस तरह से उन्होंने ‘पठान’ को अपनाया था,” सिद्धार्थ ने कहा.

तो 25 जनवरी को एक बार फिर तैयार हो जाइए, बड़े पर्दे पर हवाओं में उड़ान भरने के लिए. ‘फाइटर’ की दहाड़ सुनने के लिए, और शायद ‘पठान’ की गूंज को फिर से महसूस करने के लिए. क्योंकि सिनेमा का जादू यही है कि वो पुरानी यादें ताज़ा कर जाता है, और नई कहानियों के साथ हमें रोमांचित कर देता है.

Leave a Comment