मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना: कैसे छोटा सा मासिक निवेश बदल जाता है एक बड़े कोष में?

M Pori

Mukhyamantri Laadli Behna Yojana: How a small monthly investment turns into a big corpus in hindi

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना: कैसे छोटा सा मासिक निवेश बदल जाता है एक बड़े कोष में? (Mukhyamantri Laadli Behna Yojana: How a small monthly investment turns into a big corpus? in hindi)

Mukhyamantri Laadli Behna Yojana: How a small monthly investment turns into a big corpus in hindi

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना हरियाणा सरकार द्वारा शुरू की गई एक पहल है जो राज्य में महिलाओं के सशक्तिकरण और उनकी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के उद्देश्य से की गई है। इस योजना के तहत, राज्य सरकार हरियाणा में रहने वाली लड़कियों के माता-पिता को उनकी बेटियों के जन्म के समय ब्याज सहित ₹6,250 का एकमुश्त अनुदान प्रदान करती है। इसके अतिरिक्त, सरकार लड़कियों के माता-पिता को ब्याज सहित ₹500 का मासिक भत्ता भी देती है जब तक कि लड़की 18 वर्ष की आयु तक नहीं पहुंच जाती।

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना महिलाओं के वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने में मदद करने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। इस योजना के तहत किया गया निवेश लड़कियों के भविष्य के लिए एक मजबूत नींव प्रदान कर सकता है और उन्हें शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों में बेहतर अवसर प्राप्त करने में सक्षम बना सकता है।

एक 23 वर्षीय महिला की कल्पना करें जो हर महीने पैसे बचाने का फैसला करती है। मान लीजिए कि वह 15 वर्षों के लिए पीपीएफ (सार्वजनिक भविष्य निधि) नामक एक विशेष बचत खाते में ₹1000 डालती है।

यहाँ बताया गया है कि उसका अंत क्या हो सकता है:

  • कुल बचत: ₹1.8 लाख
  • अर्जित ब्याज: ₹1.36 लाख
  • 15 वर्षों के बाद कुल राशि: ₹3.16 लाख

अब, मान लीजिए कि वह 15 वर्षों के बाद पैसा नहीं निकालती है, लेकिन अगले 15 वर्षों के लिए बचत करती रहती है। यहां बताया गया है कि यह कैसे बढ़ सकता है:

  • कुल बचत: ₹3.6 लाख
  • अर्जित ब्याज: ₹8.39 लाख
  • 30 वर्षों के बाद कुल राशि: ₹11.99 लाख

अब बचत के एक अलग तरीके के बारे में बात करते हैं। एक विशेष बचत खाते के बजाय, वह म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकती है, एक प्रकार का निवेश जो लंबे समय तक बढ़ सकता है। यदि वह 12% की अपेक्षित रिटर्न के साथ 30 वर्षों में ₹3.6 लाख का निवेश करती है, तो यहां क्या हो सकता है:

  • कुल निवेश: ₹3.6 लाख
  • अपेक्षित कमाई: ₹31,69,914
  • 30 वर्षों के बाद कुल राशि: ₹35,29,914

इसलिए, इन स्मार्ट निवेश विकल्पों को चुनकर, हमारा 23-वर्षीय निवेशक पिछले कुछ वर्षों में अपनी बचत में उल्लेखनीय वृद्धि देख सकता है। यह एक बीज बोने जैसा है जो समय के साथ एक बड़े पेड़ में बदल जाता है!

चक्रवृद्धि का जादू

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना में चक्रवृद्धि की अवधारणा एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। चक्रवृद्धि वह प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक निवेश पर अर्जित ब्याज को भी अगली अवधि के लिए ब्याज अर्जित करने के लिए पुनर्निवेश किया जाता है। समय के साथ, चक्रवृद्धि का प्रभाव काफी बढ़ जाता है और एक छोटे से मासिक निवेश को एक बड़े कोष में बदलने में मदद कर सकता है।

उदाहरण के लिए, यदि कोई माता-पिता अपनी नवजात बेटी के जन्म के समय ₹6,250 का एकमुश्त अनुदान प्राप्त करते हैं और इसे 7% की चक्रवृद्धि दर पर निवेश करते हैं, तो 18 साल बाद उनके पास लगभग ₹34,000 हो जाएंगे। यदि वे मासिक भत्ता ₹500 भी निवेश करते हैं, तो उनके पास 18 साल बाद ₹1,80,000 से अधिक हो जाएंगे।

चक्रवृद्धि का लाभ कैसे उठाएं?

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना से अधिकतम लाभ उठाने के लिए, माता-पिता को अनुदान राशि और मासिक भत्ते को सुरक्षित रूप से निवेश करना चाहिए। निवेश के लिए कई विकल्प उपलब्ध हैं, जैसे कि बैंक बचत खाते, म्यूचुअल फंड और सरकारी योजनाएं। माता-पिता को अपने निवेश लक्ष्यों और जोखिम उठाने की क्षमता के आधार पर निवेश विकल्पों का चयन करना चाहिए।

Zomato और Swiggy को GST नोटिस जारी: ₹750 करोड़ से अधिक की कर मांग…

मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना महिलाओं के सशक्तिकरण और उनकी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। इस योजना के तहत किया गया निवेश लड़कियों के भविष्य के लिए एक मजबूत नींव प्रदान कर सकता है और उन्हें शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य महत्वपूर्ण क्षेत्रों में बेहतर अवसर प्राप्त करने में सक्षम बना सकता है। चक्रवृद्धि की अवधारणा को समझकर और उसका लाभ उठाकर, माता-पिता अपनी बेटियों के भविष्य के लिए एक बड़ा कोष बनाने में मदद कर सकते हैं।

Leave a Comment