फ्लेयर शेयर प्राइस लाइव अपडेट्स: बंपर लिस्टिंग के बाद फ्लेयर शेयर प्राइस 10% लोअर सर्किट में लॉक हो गया

MSR

Flair share price falls drastically, locked in 10% lower circuit after bumper listing in hindi

फ्लेयर शेयर प्राइस लाइव अपडेट्स: बंपर लिस्टिंग के बाद फ्लेयर शेयर प्राइस 10% लोअर सर्किट में लॉक हो गया

फ्लेयर राइटिंग इंडस्ट्रीज के शेयर शुक्रवार को बाजार में धमाकेदार तरीके से लिस्ट हुए। शेयर इश्यू प्राइस 304 रुपये के मुकाबले 65 फीसदी प्रीमियम के साथ 501 रुपये पर लिस्ट हुए। हालांकि, लिस्टिंग के बाद शेयर की कीमत में भारी गिरावट आई और यह 10 फीसदी लोअर सर्किट में लॉक हो गया।

फ़्लेयर राइटिंग इंडस्ट्रीज लिमिटेड (एफडब्ल्यूआईएल) एक भारतीय कंपनी है जो शैक्षिक और स्टेशनरी उत्पादों का निर्माण करती है। कंपनी के उत्पादों में पेन, पेंसिल, नोटबुक, अन्य लेखन उपकरण और कला सामग्री शामिल हैं। एफडब्ल्यूआईएल के उत्पाद भारत के अग्रणी शैक्षिक और स्टेशनरी ब्रांडों में से एक हैं और कंपनी के उत्पादों को भारत के पूरे देश में वितरित किया जाता है।

एफडब्ल्यूआईएल का शेयर मूल्य हाल ही में सुर्खियों में रहा है क्योंकि कंपनी ने 1 दिसंबर 2023 को अपना आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) शुरू किया था। आईपीओ के लिए कंपनी ने 288 रुपये से 304 रुपये प्रति शेयर की कीमत तय की थी। आईपीओ को भारी मांग मिली और ओवरसब्सक्राइब हो गया। आईपीओ के बाद कंपनी का शेयर मूल्य 65.5% बढ़कर 503 रुपये प्रति शेयर पर पहुंच गया।

एनएसई पर फ्लेयर शेयर प्राइस 501 रुपये पर लिस्ट हुआ, जो कि इश्यू प्राइस से 64.8 फीसदी ज्यादा है। बीएसई पर फ्लेयर शेयर 503 रुपये पर लिस्ट हुआ। कंपनी का मार्केट वैल्यूएशन सुबह के कारोबार में 4,771.25 करोड़ रुपये रहा।

फ्लेयर राइटिंग इंडस्ट्रीज एक पेन बनाने वाली कंपनी है। कंपनी के पास भारत में 22 मैन्युफैक्चरिंग यूनिट हैं और वह अपने उत्पादों को 30 से ज्यादा देशों में एक्सपोर्ट करती है। कंपनी का सालाना टर्नओवर 1,000 करोड़ रुपये से ज्यादा है।

फ्लेयर राइटिंग आईपीओ सदस्यता के तीसरे दिन, स्थिति प्रभावशाली 46.68 गुना तक पहुंच गई। सब्सक्रिप्शन विवरण से पता चला कि खुदरा निवेशकों ने फ्लेयर आईपीओ के हिस्से को 13.01 गुना सब्सक्राइब किया, जबकि गैर-संस्थागत निवेशकों (एनआईआई) हिस्से को 33.37 गुना सब्सक्रिप्शन मिला। क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स (क्यूआईबी) हिस्सा विशेष रूप से मजबूत था, जिसे उल्लेखनीय रूप से 115.60 गुना अधिक सब्सक्राइब किया गया था। ये आंकड़े बीएसई पर उपलब्ध आंकड़ों पर आधारित हैं।

पिछले दिनों को देखें तो दूसरे दिन सब्सक्रिप्शन दर 6.12 गुना और पहले दिन 2.18 गुना रही.

फ्लेयर राइटिंग इंडस्ट्रीज लिमिटेड आईपीओ का मूल्य बैंड ₹288 से ₹304 प्रति इक्विटी शेयर के बीच निर्धारित किया गया था, प्रत्येक का अंकित मूल्य ₹5 था। फ्लेयर आईपीओ के लिए लॉट साइज 49 इक्विटी शेयरों का था, और निवेशक उसके बाद 49 इक्विटी शेयरों के गुणकों में सदस्यता ले सकते थे। ये विवरण फ्लेयर राइटिंग आईपीओ में उत्साही प्रतिक्रिया और मजबूत निवेशक रुचि की एक व्यापक तस्वीर प्रदान करते हैं।

फ्लेयर राइटिंग इंडस्ट्रीज के आईपीओ से जुटाई गई रकम का इस्तेमाल कंपनी की कैपेसिटी बढ़ाने और बाजार में अपनी पैठ मजबूत करने में किया जाएगा। कंपनी की योजना अपने मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स में अपग्रेड करने और नए उत्पाद लॉन्च करने की भी है।

शेयर मूल्य में इस तेजी के कई कारण हैं। सबसे पहले, कंपनी का ब्रांड भारत में बहुत लोकप्रिय है और इसके उत्पादों को अच्छी तरह से स्थापित किया गया है। दूसरे, कंपनी का वितरण नेटवर्क बहुत मजबूत है और इसके उत्पादों को भारत के पूरे देश में वितरित किया जाता है। तीसरे, कंपनी के पास अनुभवी प्रबंधन है और कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन अच्छा रहा है।

हालांकि, कुछ विश्लेषकों का मानना ​​है कि कंपनी का शेयर मूल्य फिलहाल अधिक महत्व वाला है और इसमें सुधार की गुंजाइश है। उनका मानना ​​​​है कि कंपनी को अपने उत्पादों की कीमतों में वृद्धि करने में कठिनाई होगी और कंपनी को नए उत्पादों को लॉन्च करने में भी कठिनाई होगी।

कुल मिलाकर, एफडब्ल्यूआईएल एक अच्छी कंपनी है जिसका भविष्य अच्छा दिखता है। हालांकि, निवेशकों को कंपनी के शेयरों में निवेश करने से पहले सावधान रहना चाहिए क्योंकि शेयर मूल्य में सुधार की गुंजाइश है।

एफडब्ल्यूआईएल के शेयर मूल्य पर नज़र रखने के लिए कुछ महत्वपूर्ण कारक

  • कंपनी का वित्तीय प्रदर्शन
  • कंपनी की बिक्री और लाभ वृद्धि
  • कंपनी के नए उत्पाद लॉन्च
  • कंपनी के प्रतिस्पर्धियों का प्रदर्शन
  • भारतीय अर्थव्यवस्था का समग्र प्रदर्शन

एफडब्ल्यूआईएल एक अच्छी कंपनी है जिसका भविष्य अच्छा दिखता है। हालांकि, निवेशकों को कंपनी के शेयरों में निवेश करने से पहले सावधान रहना चाहिए क्योंकि शेयर मूल्य में सुधार की गुंजाइश है। निवेशकों को एफडब्ल्यूआईएल के शेयर मूल्य पर नज़र रखनी चाहिए और कंपनी के वित्तीय प्रदर्शन, बिक्री और लाभ वृद्धि, नए उत्पाद लॉन्च, प्रतिस्पर्धियों के प्रदर्शन और भारतीय अर्थव्यवस्था के समग्र प्रदर्शन पर ध्यान देना चाहिए।

Leave a Comment