“डेविल” में क्या यह हॉरर आपके रोंगटे खड़े कर देगा? | Devil Movie Review Devil Movie Review Rating Kalyan Ram

MSR

Devil Movie Review Devil Movie Review Rating Kalyan Ram

क्या शैतान छिपा है “डेविल” में? (Devil Movie Review Rating, Nandamuri Kalyan Ram, Samyuktha Menon)

 Devil Movie Review Devil Movie Review Rating Kalyan Ram

तेलुगु सिनेमा जगत में इस सप्ताह शैतान ने कदम रखा है, यानी कि “डెविల్” फिल्म रिलीज हो चुकी है. कल्याण राम नंदमुरी इस फिल्म में एक रहस्यमय और एक्शन से भरपूर किरदार निभा रहे हैं. सवाल ये है कि क्या ये “डెविल” दर्शकों का दिल जीत पा सकेगा, या फिर ये रोमांच का अनुभव थोड़ा फीका पड़ जाएगा? आइए जानते हैं इस फिल्म के हर पहलू की गहराई से, एक खुली और ईमानदार समीक्षा के साथ.

कहानी का जादू: फिल्म की कहानी 1942 के ब्रिटिश भारत में शुरू होती है. सुभाष चंद्र बोस के आजाद हिंद फौज से जुड़ा एक रहस्यमय मिशन, अचानक एक हत्याकांड और उसके बाद एक नायक का उदय – यही है “डिविजन वाई” नामक इस टीम का मकसद. कल्याण राम इसी टीम के प्रमुख शैतान के किरदार में हैं, जो अपने अतीत के रहस्यों से जुझते हुए इस मिशन को पूरा करने की कोशिश करते हैं. कहानी का प्लॉट दिलचस्प है, खासकर ब्रिटिश राज के समय का बैकग्राउंड इसे थोड़ा अलग बनाता है. हालांकि, कहीं-कहीं कथानक थोड़ा धीमा पड़ जाता है, जिससे दर्शकों के लिए रोमांच बनाए रखना थोड़ा मुश्किल हो जाता है.

एक्शन की धमक: जहां एक तरफ कहानी का बुन बुनायापन थोड़ा सवाल उठाता है, वहीं फिल्म के एक्शन सीक्वेंस इसकी रफ्तार को बरकरार रखते हैं. चाहे वो शुरुआती ट्रेन सीक्वेंस हो या अंत में होने वाला जबरदस्त मुकाबला, फिल्म निर्देशक अविनाश नाम ने इन दृश्यों को बखूबी फिल्माया है. कल्याण राम के स्टंट्स शानदार हैं और वह एक कुशल एक्शन हीरो के रूप में खुद को साबित करते हैं. फिल्म में कुछ कमाल के हवाई स्टंट्स भी शामिल हैं, जो दर्शकों को अपनी सीट से बांधे रखते हैं.

अभिनय का कसीदा: कल्याण राम अपने किरदार “शैतान” में पूरी तरह से समा गए हैं. उनका मस्कुलर लुक, तेज-तर्रार डायलॉग डिलीवरी और एक्शन सीक्वेंस में निपुणता, फिल्म का एक मजबूत स्तंभ हैं. अन्य कलाकारों के प्रदर्शन भी अच्छे हैं, खासकर नायक की प्रेमिका के रूप में नजर आने वाली संयुक्ता मेनन ने अपना किरदार बखूबी निभाया है. फिल्म में मुकेश रूसी और तनिकेला भरानी जैसे अनुभवी कलाकारों ने भी अपने छोटे लेकिन यादगार किरदारों से फिल्म को मजबूती दी है.

संगीत का सुर: फिल्म के गीत थोड़े कमजोर लगते हैं. हालांकि, बैकग्राउंड स्कोर काफी प्रभावशाली है और एक्शन सीक्वेंस को और भी उम्दा बनाता है. फिल्म के संवाद कुछ जगहों पर थोड़े हल्के-फुल्के लगे हैं, लेकिन कुल मिलाकर वे कहानी को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाते हैं.

निष्कर्ष: कुल मिलाकर, “डिविजन वाई” एक रोमांचक और मनोरंजक फिल्म है, जिसमें कुछ अच्छे एक्शन सीक्वेंस और कल्याण राम का शानदार प्रदर्शन शामिल है. हालांकि, कहानी का धीमा पड़ना और कमजोर गीत फिल्म के कुछ कमजोर पक्ष हैं. अगर आप एक्शन से भरपूर फिल्म देखना चाहते हैं और कुछ समय के लिए खुद को रोमांचक दुनिया में खोना चाहते हैं, तो “डिविजन वाई” आपको निराश नहीं करेगी.

रेटिंग: 3.5/5

Leave a Comment